Friday, October 12, 2018

नवरात्री के बारे में 10 महत्वपूर्ण बातें।

दोस्तों,  नवरात्री के बारे में 10 रोचक बातें आपको आज हम यहाँ बताने जा रहे हैं. नवरात्री का 2018 में ही नहीं, प्राचीन काल से ही महत्व रहा है. हमारे भारत में साल में 2 बारे नवरात्री आती हैं. दोनों का अपना अपना महत्व हैं.
नवरात्री में भारत के लोग 9 दिनों तक लगातार व्रत रखते है. ऐसी मान्यता है की 9 दिनों तक व्रत रखने से माता खुश होती हैं और घर में सुख शान्ति बानी रहती है.
तो आइये आज हम जानते हैं नवरात्री के बारे में दस महत्व वाली बातें।


1. नवरात्री दो शब्दों का मेल है. पहला है नव जिसका अर्थ है नौ और रात्रि मतलब रात. दोनों को मिला दें तो बनता है नवरात्री। नवरात्री का साफ अर्थ है की आपको 9 रातों तक अन्न नहीं खाना है अर्थात व्रत रहना है. 

2. नवरात्री साल में दो बार मनाई जाती है. पहली नवरात्री को कहते है अश्विना नवरात्री जबकि दूसरी नवरात्री को कहते है महा नवरात्रि जो की अभी चल रही है. इसे महान नवरात्री भी कहा जाता है.

3. नौ दिनों तक चलने वाली नवरात्रि में शक्ति की नौ देवियों को अलग अलग दिनों में पूजा जाता है. ये देविया हैं:  दुर्गा, भद्रकाली, जगदम्बा, अन्नपूर्णा, सर्वमंगला, भैरवी, चन्द्रिका, ललिता, और मूकाम्बिका भवानी।

4. देवी दुर्गा और राक्षस महिसासुर के बीच दस दिनों तक युद्ध चला था. दसवें दिन दुर्गा ने महिसासुर का सर धड़ से अलग कर दिया था. इसी दिन को हम दशहरा के रूप में मनाते है.

5.  ये भी कहा जाता है की भगवन राम ने रावण को 10वे दिन मार दिया था. ये यद्ध भी इसी दौरान चला था. यही कारण है की लोग दशहरा पर रावण का पुतला जलाते हैं.

6. गरबा और डांडिया दो इसी दौरान किये जाने वाले प्रसिद्द नृत्य है. नवरात्रों के आखरी दिन जगह जगह नृत्य का आयोजन होता है. गुजरात और बंगाल में ये ख़ास तौर पर नृत्य किया जाता है.

7. नवरात्रि के आखिरी दिन बच्चो को लोग अपने अपने घरों में खाने पर बुलाते हैं. बालिकाओं को विशेष तौर पर आमंत्रित किया जाता है और लोगो बालिकाओं को देवी का रूप मानते हैं.

8. महिषासुर का सर बैल के सर के सामान था. क्यूंकि दुर्गा जी ने महिसासुर का सर काट दिया था, इसी को मानते हुए कुछ जगह बेलों की बलि देने का भी प्रचलन है.

9. एक मान्यता ये भी है की ब्रम्हा जी ने भगवान राम को रावण से लड़ने से पहले नौ दिनों तक पूजा करने को कहा था. इसी को मानते हुए लोग नवरात्री का त्यौहार मानते हैं. ऐसी मान्यता कई जगह है. 

10. नवरात्रि के आखरी दिन सभी अपना व्रत अन्न ग्रहण कर के तोड़ लेते हैं और कुछ जगह तो उसी शाम को पान खाने का भी प्रचलन है. 

तो दोस्तों आपको हमारी ये पोस्ट कैसी लगी हमें कमैंट्स में ज़रूर बताइयेगा।


मिलते है दोस्तों हमारी अगली पोस्ट में. 





No comments:

Post a Comment